Home > Blog > Story > उत्तर प्रदेश के तार और तस्वीर

उत्तर प्रदेश के तार और तस्वीर

इतिहास स्वयं को दोहराता है। उत्तर प्रदेश के विधान सभा चुनावों के दौरान राहुल गाँधी जब अखिलेश यादव के साथ रोड़-शो पर निकले तो बिजली की लटकी हुयी तारों से खुद को बचाने हेतू झुकना पड़ा। तस्वीर वायरल हुयी। लटकी तारों ने अखिलेश सरकार के किये विकास कार्यों पर प्रश्न चिन्ह खड़ा किया। तस्वीर कई अखबारों में छपी। शायद कुछ में न भी हो।
कल प्रियंका गाँधी वाड्रा के रोड़-शो में भी राहुल गाँधी मौजूद थे। लटकती तारों का किस्सा फिर सामने पेश आया। अपने पुराने अनुभव से सीख लेते हुए स्वयं भी बच निकले और दीदी को भी समय रहते झुका दिया। फिर लगा उत्तर प्रदेश के विकास पर प्रश्न चिन्ह! योगी जी! कुम्भ में ही अटके रहोगे क्या?

हम तो ठहरे निरे लकीर के फ़क़ीर! अख़बारों के फ्रंट पेज और हेडलाइंस में ही अटके रहेंगे। आज The Tribune के फ्रंट-पेज में पिछले कल के रोड़-शो का चित्र छपा है “No Ducking Now” की कैप्शन के साथ। मुझे पक्का यकीन है The Tribune में तब न छपा होगा जब राहुल और अखिलेश समाजवादी सरकार के समय में झुके थे। जिन्होंने तब छापा था, वो आज नहीं छापेंगे।

भले ही इतिहास स्वयं को दोहराता है, मगर यह अखबार वाले चित्र नहीं दोहराएंगे। विशेष रूप से जब दोनों समय अलग अलग सरकारें हो! एक और बात (या अंग्रेजी) जो समझ नहीं आयी। जब झुक ही रहे हैं तो “No Ducking Now” की कैप्शन देने क्या जरूरत थी? क्या Now का अंग्रेजी में मतलब Future भी हो सकता है?

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: