Home > Blog > Travel > गज़ब हैं मेरे दोस्त भी!

गज़ब हैं मेरे दोस्त भी!

कंपनी अच्छी है मगर एक ही स्यापा है इनके साथ रह कर। हम कभी लम्बे न दिखे! मरिआना ट्रेंच में भी इन्हे डुबो दो, कम से कम इनके बाल तो आपको बाहर दिख ही जायेंगे। हाँ! बालों की बात पर अभिषेक डोहरू एक अपवाद उभर कर नज़र आता है। खैर हम तो रहे इन्फिनिटी के चार फ़ीट गहरे स्विमिंग पूल में भी डूबने वाले! जब ऊपर वाले ने बनाया ही डूबने के लिए है तो इनसे भी क्या गिला? पराशर झील का भ्रमण याद रहेगा। भरपूर बेइज़्ज़ती भरा! हम वहां भी डूबे हुए डिक्लेअर किये गए। अगले टुअर में Terms & Conditions पर हस्ताक्षर करवाए जायेंगे। लम्बाई के ऊपर कोई कमेंट नहीं! वैसे अच्छा भी है अगर दोस्त लम्बे हों! छत्रछाया बनी रहती है उनकी सदैव आप के ऊपर। और हाँ! अबकी बार बेइज़्ज़ती सहन नहीं होगी; बता रहा हूँ। सीधे राजस्थान भेजूंगा इन ऊंटों को। दीगर बात यह है कि साथ साथ मैं भी पहुँच जाऊंगा। पत्थर पर चढ़ कर सेल्फी ली गयी थी। अच्छा हुआ ड्राइवर भैया जी भी आ गए। ड्राइवर भैया जी ही तो हमे जमे थे पूरे टुअर में! मुझसे भी कुछ सेंटीमीटर छोटे!

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: