Home > Blog > Uncategorized (Page 2)

अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता-मेरा भारत महान

ख़बरें आती जाती रहेंगी। खबर छप कर कुछ घंटों बाद इतिहास बन जाती है। समाचार पत्रों का उनके गर्भावस्था से आपके दरवाजे तक पहुँचने का कार्यकाल और उनका उम्रकाल बस कुछ ही घंटों का होता है। एक नज़र डाल कर आप उसे रद्दी घोषित कर …

Men Will Be Men! एक सोच, आपकी नज़र

हम कौन सा बदलने वाले हैं, भइया जी! भगवान् का दिया पुरुषार्थ हम काहे भला बदलेंगे? अलग बात रही कि पुरुषार्थ की परिभाषा कुछ और ही है। मगर लोचा भाई के व्याख्यानों से जो पल्ले पड़ा, उसके मुताबिक पुरुषार्थ यही रहा, वो भी भारी लहज़े …

शुभ मंगल सावधान!

आज एक भस्सड़ हुयी। कुछ पुराने अजीज मित्रों से अचानक ही मुलाकात हो गयी। चेहरे पर ख़ुशी का नूर महसूस किया जा सकता था। बीच राह में कुछ पुराने किस्से साँझा किये गए। बातें कुछ इस कदर बढ़ती गयीं कि कहना ही पड़ा ‘चलो! एक-एक …

सूरज के साथ साथ

क़िस्सा यह भी सही रहा। सूरज के साथ कॉम्पटिशन कर बैठे। विपरीत दिशा में बह निकले। सूरज भिया जी ठहरे सूरज! जहूँ निकले, चारों ओर उजाला। हम तो कभी शाम से कभी अंधेरे से परिचय पाते आगे बढ़ रहे थे। सोचा न था कि पीछे …